हमीरपुर में मेडिकल कालेज अस्पताल आरकेएस की बैठक स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल की अध्यक्षता में संपन्न

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 5 करोड़ 84 लाख रुपये से अधिक का बजट अनुमोदित

हमीरपुर 15 सितंबर। डॉ. राधाकृष्णन राजकीय मेडिकल कालेज अस्पताल हमीरपुर की रोगी कल्याण समिति की गवर्निंग बॉडी की बैठक बुधवार को होटल हमीर में आयोजित की गई। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और आयुर्वेद मंत्री डॉ. राजीव सैजल की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में समिति के सभी सरकारी और गैर सरकारी सदस्यों ने भाग लिया तथा अस्पताल से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की।
  बैठक के दौरान वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए अनुमानित 5 करोड़ 84 लाख रुपये से अधिक के बजट को अनुमोदित किया गया। इस अवसर पर तीन वर्षों के आय-व्यय और पिछली बैठक के दौरान लिए गए निर्णयों की समीक्षा करते हुए डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि मेडिकल कालेज अस्पताल के बेहतर प्रबंधन और इसमें आम लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए अस्पताल प्रशासन तथा रोगी कल्याण समिति के सदस्य एक सप्ताह के भीतर समीक्षा बैठक करें और गवॢनंग बॉडी की बैठक में उठाए गए विभिन्न मुद्दों पर आपसी तालमेल के साथ कार्य करें। उन्होंने कहा कि बैठक के दौरान गैर सरकारी सदस्यों की ओर से प्राप्त सुझावों पर गंभीरतापूर्वक विचार करके इन्हें शीघ्र ही अमलीजामा पहनाया जाएगा।
 अस्पताल में विभिन्न टैस्टों की फीस और अन्य सुविधाओं की एवज में लिए जाने वाले शुल्क पर चर्चा के दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ये सभी शुल्क राज्य के अन्य मेडिकल कालेजों की तर्ज पर ही होने चाहिए। उन्होंने कहा कि दंत चिकित्सा के लिए वसूले जाने वाले शुल्क राजकीय दंत चिकित्सा महाविद्यालय शिमला की निर्धारित दरों पर होने चाहिए। इसके अलावा अन्य टैस्टों की दरें राज्य के अन्य मेडिकल कालेजों के अनुसार ही तय करें। डॉ. सैजल ने नई सीटी स्कैन मशीन की खरीद की प्रक्रिया अतिशीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। गवर्निंग बॉडी ने अस्पताल प्रबंधन को उपायुक्त द्वारा निर्धारित दरों पर कॉल डयूटी व्हिकल किराये पर लेने की मंजूरी भी प्रदान कर दी। रोगी कल्याण समिति के तहत लंबे समय से सेवाएं दे रहे कर्मचारियों के मानदेय में प्रतिवर्ष 4 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने की अनुमति भी दे दी गई।
  इस अवसर पर कोरोना रोधी वैक्सीनेशन की चर्चा करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को वैक्सीन प्रथम डोज लगाने वाला पहला राज्य बन गया है। अब नवंबर तक सभी लोगों को दूसरी डोज लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने के लिए भी पूरी तरह तैयार है। प्रदेश में इस समय 28 पीएसए ऑक्सीजन प्लांट, 11 हजार कोविड बिस्तर क्षमता, 3000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स और 800 वेंटीलेटर्स की व्यवस्था की गई है।
 बैठक के दौरान गवर्निंग बॉडी के गैर सरकारी सदस्यों ने मेडिकल कालेज अस्पताल के बेहतर प्रबंधन के लिए अपने सुझाव रखे, जिन पर स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी और स्वास्थ्य शिक्षा निदेशक डॉ. रजनीश पठानिया ने कालेज प्रशासन को तुरंत कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
 इस अवसर पर मेडिकल कालेज की प्रधानाचार्य डॉ. सुमन यादव ने स्वास्थ्य मंत्री और अन्य अतिथियों का स्वागत किया। जबकि, मेडिकल कालेज अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. रमेश चौहान ने विभिन्न मुद्दों का विस्तृत ब्यौरा प्रस्तुत किया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.