जिला मादक द्रव्य निवारण समिति की बैठक आयोजित

शिमला
अतिरिक्त उपायुक्त शिमला अभिषेक वर्मा ने आज यहां अपने कार्यालय कक्ष में जिला मादक द्रव्य निवारण समिति की बैठक ली।
उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि वर्तमान राज्य सरकार युवा पीढ़ी में नशे की बढ़ती प्रवृत्ति की रोकथाम के लिए कटिबद्ध है और इस दिशा में निरंतर कार्य कर रही है ताकि युवाओं को मादक द्रव्यों के दुष्प्रभावों से अवगत करवाया जा सके। उन्होंने पुलिस, वन, स्वास्थ्य, शिक्षा व कृषि विभागों के अधिकारियों से आह्वान किया कि वे आपस में बेहतर समन्वय स्थापित कर नशाखोरी की समस्या से निजात दिलाने में सहयोग करें।
अतिरिक्त उपायुक्त ने पुलिस विभाग को खुफिया तंत्र मजबूत करने का आह्वान किया ताकि पड़ोसी राज्यों से आ रही नशे की खेप व नशे के सौदागरों पर अंकुश लगाया जा सके और स्वस्थ समाज का निर्माण संभव हो सके तथा प्रबुद्ध जनता का सहयोग लेने के दिशा-निर्देश भी दिए। उन्होंने वन एवं पुलिस विभाग को निर्देश दिए कि वे भांग उखाड़ो अभियान में स्थानीय पंचायत जनप्रतिनिधियों का सहयोग लें ताकि नशे की समस्या पर अंकुश लगाया जा सके और ग्रामीण लोगों को एनडीपीएस अधिनियम पर जानकारी प्राप्त हो सके।
अभिषेक वर्मा ने शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि वे मादक द्रव्यों के दुष्प्रभावों पर स्कूलों एवं महाविद्यालयों में जागरूकता शिविर आयोजित करें ताकि युवाओं में इन शिविरों से सकारात्मक दृष्टिकोण उत्पन्न हो सके। इसके अतिरिक्त उन्होंने नशा निवारण एवं पुनर्वास केन्द्रों के समय-समय पर औचक निरीक्षण पर बल दिया तथा स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि इन केन्द्रों में मनोचिकित्सक समय-समय पर उपलब्ध हो, जिससे नशे की समस्या से जूझ रहे युवाओं को लाभ मिल सके।
बैठक में जिला कल्याण अधिकारी केवल राम चौहान, रिपन अस्पताल के विशेषज्ञ डाॅ. युगवीर सिंह, पुलिस, शिक्षा विभागों के अधिकारीगण एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.