लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध

5 करोड़ 64 हजार रुपये के अनुमानित बजट को स्वीकृति प्रदान:डाॅ. धनी राम शांडिल
हिमाचल प्रदेश राजकीय दंत महाविद्यालय एवं अस्पताल के रोगी कल्याण समिति की बैठक आयोजित

शिमला
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री कर्नल डाॅ. धनी राम शांडिल की अध्यक्षता में आज यहां हिमाचल प्रदेश राजकीय दंत महाविद्यालय एवं अस्पताल के रोगी कल्याण समिति की बैठक का आयोजन किया गया। बैैठक में वित्त वर्ष 2024-25 के लिए 5 करोड़ 64 हजार रुपये का अनुमानित बजट को स्वीकृति प्रदान की गई।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है ताकि आमजन को इन सुविधाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ प्राप्त हो सके। उन्होंने दंत चिकित्सा अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण पर जोर दिया तथा मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने का आग्रह किया ताकि आमजन को इस अस्पताल का ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि समिति की बैठक का आयोजन भी लम्बे समय के उपरांत किया जा रहा है, जिसकी एक वजह प्रदेश में आई भारी आपदा है। उन्होंने कहा कि इस दौरान वित्तिय वर्ष 2021-22, 2022-23 एवं 2023-24 के दौरान बाह्य रोगी विभाग के अंतर्गत लगभग 2 लाख 21 हजार मरीजों को उपचार प्रदान किया गया वहीं अस्पताल द्वारा इस दौरान 788 सफल आॅपरेशन को भी अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त इस दौरान लगभग 63 हजार मरीजों के एक्स-रे भी किए गए।
समिति ने आवश्यकता अनुसार अलग-अलग क्षेत्रों मंे आयोजित होने वाले डेंटल कैंप के लिए छोटा वाहन किराए पर लेने की अनुमति प्रदान की गई वहीं अस्पताल में क्रियान्वित एक आॅपरेशन थियेटर को माॅडुलर रूप में उन्नयन करने के लिए भी अनुमति प्रदान की गई है। इस संदर्भ में मशीनरी तथा अन्य आवश्यक चीज़ों के लिए बजट का भी प्रावधान किया जा चुका है।
उन्होंने कहा कि समिति द्वारा आज दंत चिकित्सा अस्पताल में नई प्रक्रिया के लिए उपयोगकर्ता शुल्क दरों में भी मंजूरी प्रदान की गई है। उपरोक्त दरों को अन्य राजकीय दंत चिकित्सा महाविद्यालय की दरों के आधार पर निर्धारित किया गया है।
समिति द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं के सफल संचालन के लिए आउटसोर्स आधार पर खाली लिपिक के 8 पद, स्टाफ नर्स के 7 पद एवं चतुर्थ श्रेणी के 5 पद भरने की अनुमति प्रदान की गई। इसके अतिरिक्त दंत चिकित्सा महाविद्यालय के छात्रों के लिए पुस्तकालय में जर्नल्स खरीदने की भी अनुमति दी गई। विभाग के वरिष्ठ चिकित्सकों के लिए कम्प्यूटर खरीदने, छात्रों के लिए लाॅकर्स केबिन खरीदने, सेंट्रल एयर कम्प्रेशर पाइप लाइन स्थापित करने, प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र स्थापित करने की अनुमति दी गई।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इसके अतिरिक्त महाविद्यालय की अन्य विभिन्न मांगे भी समिति के समक्ष प्राप्त हुई है, जिसे आगामी विचार के लिए सरकार के समक्ष प्रेषित किया जाएगा ताकि उन समस्याओं के समाधान से अस्पताल में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सके।
इस अवसर पर विधायक हरीश जनारथा, स्वास्थ्य सचिव एम. सुधा देवी, प्रधानाचार्य हिमाचल प्रदेश राजकीय दंत चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल डाॅ. आशु गुप्ता सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.