भ्रष्टाचार पर शून्य सहिष्णुता की नीति से लोगों का सरकार के प्रति विश्वास बढ़ा: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कुमारसैन बस अड्डे का लोकार्पण किया
परिवहन निगम सब डिपो खोलने की घोषणा

शिमला।   मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने आज शिमला जिला के कुमारसैन में 4.26 करोड़ से निर्मित बस अड्डे का लोकार्पण किया। उन्होंने परिवहन निगम का सब डिपो खोलने की घोषणा भी की। उन्होंने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्थानीय लोगों की मांग को देखते हुए सरकार शीघ्र ही इस घोषणा को पूरा करेगी जिससे क्षेत्र में परिवहन सेवाएं और अधिक सुदृढ़ होंगी।
उन्होंने कहा कि नवनिर्मित बस अड्डे से क्षेत्र की 28 पंचायतों के हजारों लोगों को लाभ मिलेगा। इस बस अड्डे से प्रतिदिन 41 बस रूट संचालित होंगे।
उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा प्रदेश में भ्रष्टाचार के सभी रास्ते बंद कर दिए गए हैं जिससे लोगों में सरकार के प्रति विश्वास बढ़ा है और अतिरिक्त आर्थिक संसाधन भी अर्जित हुए हैं। उन्होंने कहा कि जनता के पैसे का इस्तेमाल जनकल्याणकारी योजनाओं को ज़मीनी स्तर पर कार्यान्वित करने पर किया जा रहा है ताकि इनका लाभ आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक पहुंचे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ता संभालने के पश्चात विकट वित्तीय स्थिति के चलते उनके समक्ष चुनौतियों का पहाड़ था। अभी नवगठित सरकार इसका हल निकाल ही रही थी कि प्रदेश में आई अभूतपूर्व आपदा ने भी प्रदेश को एक बड़ा झटका दिया। उन्होंने कहा कि इन चुनौतियों से बाहर निकलने के लिए प्रदेश सरकार ने भरसक प्रयास किए हैं और आम लोगों के सहयोग से वह सभी चुनौतियों पर निश्चित ही विजय हासिल करेंगे।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में सत्ता संभालने के पश्चात उन्होंने सभी वर्गों के कल्याण के लिए कार्य किया है। बच्चों, महिलाओं, किसानों व बागवानों सहित प्रत्येक वर्ग के लिए कल्याणकारी योजनाएं बनाई गई हैं जिनका लाभ उन तक पहुंचाना सुनिश्चित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के बागवानों के कल्याण के लिए बीते साल से किलो के हिसाब से सेब बेचने का निर्णय लागू किया गया है। इस साल से यूनिवर्सल कार्टन का प्रयोग अनिवार्य किया गया है।
उन्होंने मुख्यमंत्री सुख-आश्रय योजना, इंदिरा गांधी प्यारी बहना सुख-सम्मान निधि योजना और प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही अन्य जनहित की योजनाओं का जिक्र करते हुए जनसभा में उपस्थित महिलाओं से सुख-सम्मान निधि का लाभ उठाने का आह्वान किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की लगभग 90 प्रतिशत आबादी गांवों में बसती है और इसे मद्देनज़र रखते हुए बजट 2024-25 में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने के दृष्टिगत ऐतिहासिक निर्णय लिए गए हैं। प्रदेश में पहली बार गाय व भैंस के दूध की खरीद पर न्यून्तम समर्थन मूल्य प्रदान किया जा रहा है। गाय के दूध पर 45 रुपए और भैंस के दूध पर 55 रुपए समर्थन मूल्य प्रदेश सरकार द्वारा पशुपालकों को प्रदान किया जा रहा है। इसी प्रकार प्रदेश में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इस पद्धति द्वारा उगाए गए गेहूं व मक्का की पैदावार के लिए भी 40 रुपये व 30 रुपये प्रतिकिलो का समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारी बारिश के कारण प्रदेश में आई आपदा से निपटने के लिए सरकार ने अपने संसाधनों से विशेष राहत पैकेज जारी कर प्रभावितों को संशोधित वित्तीय सहायता राशि जारी की है। संशोधन के तहत राहत राशि में कई गुणा वृद्धि कर सभी प्रभावितों को सहायता प्रदान की गई।
इससे पूर्व, विधायक कुलदीप सिंह राठौर ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और उन्हें स्थानीय मांगों से अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश का सर्वांगीण विकास कांग्रेस की सरकारों ने सुनिश्चित किया है।
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का स्वागत प्रदेश परिवहन निगम के अधिकारियों और स्थानीय कांग्रेस कमेटी की ओर से किया गया।
इस अवसर पर लोक निर्माण एवं शहरी विकास मंत्री विक्रमादित्य सिंह, वन निगम उपाध्यक्ष केहर सिंह खाची, राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष देवेंद्र श्याम, पचांयती राज संस्थाओं के प्रतिनिधि, जिला ग्रामीण कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अतुल शर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी और बड़ी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.