धान बेचने के लिए टकारला खरीद केंद्र पर आने से पहले गुणवत्ता सुनिश्चित करें किसान: बलवीर

टकारला मंडी एफसीआई को हैंड ओवर की गई, 15 अक्तूबर से 30 नवंबर तक होगी धान की खरीद
ऊना, 11 अक्तूबर: जिला ऊना के किसानों की सुविधा के लिए टकारला मंडी में एफसीआई ने खरीद केंद्र स्थापित कर दिया है। विधायक बलवीर सिंह तथा एपीएमसी अध्यक्ष बलवीर बग्गा की उपस्थिति में एफसीआई को मंडी हैंड ओवर कर दी गई। यहां पर 15 अक्तूबर से 30 नवंबर तक एफसीआई किसानों से धान की खरीद करेगा।
इस अवसर पर चिंतपूर्णी से विधायक बलवीर सिंह ने कहा कि जिला के किसानों के लिए यह एक बहुत बड़ी सुविधा शुरू की गई है जिसके लिए वह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर एवं कृषि मत्री वीरेंद्र कंवर के आभारी हैं। उन्होंने कहा कि जिला में ही एफसीआई के माध्यम से धान की खरीद शुरू होने से हज़ारों किसानों को लाभ मिलेगा। यह मामला उन्होंने स्वंय कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर के साथ मिलकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के समक्ष उठाया था। आज प्रसन्नता का विषय है कि मुख्यमंत्री ने जो आश्वासन दिया वह पूरा हो गया है।
बलवीर सिंह ने कहा कि किसान एफसीआई के तय गुणवत्ता के मापदंडों के अनुसार ही अपना धान बेचने के लिए खरीद केंद्र पर लायें ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पडे़। इससे पहले किसानों की सुविधा के लिए ही जिला में गेहूं की खरीद भी एफसीआई के माध्यम से की गई थी जिससे हज़ारों किसानों को फायदा हुआ। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर किसानों की आय को दोगुना करने के लिए प्रयासरत हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रहते हुए प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने एक अभियान के रूप में स्वां नदी का तटीयकरण करवाया जिससे किसानों की हज़ारो हैक्टेयर भूमि रिक्लेम हुई। इससे किसानों को जहां खेती के लिए भूमि उपलब्ध हुई वहीं स्वां नदी से होने वाला नुक्सान भी समाप्त हो गया।
विधायक बलवीर ने कहा कि साढे़ तीन करोड़ रूपये टकारला मंडी के सुदृढ़ीकरण के लिए प्रदेश सरकार ने स्वीकृत किए हैं जिससे यहां पर पेबर ब्लाॅक बिछाये जाएंगे, शैड का निर्माण किया जाएगा। इसके अतिरिक्त यहां टयूबवैल लगाने की भी योजना है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में भी चिंतपूर्णी विधानसभा क्षेत्र में अभूतपूर्व तरक्की की है। विधानसभा क्षेत्र में अटल आदर्श विद्यालय खोलने की अधिसूचना जारी कर दी गई है जिस पर 41 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे। साथ ही नंदपुर में केंद्रीय विद्यालय भी खोला जा रहा है। उन्होंनेे कहा कि ठठल तथा धर्मशाला महंतां स्कूल को उत्कृष्ट विद्यालय बनाया गया है जिसके लिए वह मुख्यमंत्री के आभारी हैं।
एक लाख क्विंटल से अधिक गेहूं की खरीद हुई
कार्यक्रम में एपीएमसी के अध्यक्ष बलवीर बग्गा ने विधायक का स्वागत किया और कहा कि इस खरीद केंद्र से पूरा जिला लाभान्वित होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना काल मे किसानों को घर-द्वार पर ही गेहूं की बेचने की सुविधा मिले इसके लिए राज्य सरकार ने प्रयास किए तथा जिला ऊना में कांगड़ व टकारला में खरीद केंद्र खोले गए। बग्गा ने कहा कि प्रदेशर सरकार ने पूरे राज्य में 1.30 लाख क्विंटल से अधिक गेहूं की खरीद की थी।
इससे पूर्व किसानों को बताया गया कि धान बेचने के लिए इस बार उन्हें ीजजचरूध्ध्ीचंचचचण्दपबण्पद बेवसाईट पर पंजीकरण करवाना होगा। जिसके बाद राजस्व अथवा कृषि विभाग पंजीकरण को स्वीकृत करेंगे तथा इसके बाद किसान को अपना टोकन नंबर लेकर स्लाॅट बुक करना होगा। स्लाॅट की बुकिंग के बाद ही किसान धान बेचने के लिए टकारला खरीद केंद्र पर पहंुचे। उन्हें बताया गया कि लोकमित्र केंद्र में तीस रूपये शुल्क अदा करके भी पंजीकरण करवाया जा सकता है।
इस अवसर पर एपीएमसी अध्यक्ष बलवीर बग्गा, शंभू गोस्वामी, स्थानीय प्रधान प्रियदर्शनी चैधरी, एसडीएम अंब मनेश कुमार यादव, सह निदेशक खाद्य एवं आपूर्ति विभाग रविंद्र ठाकुर, जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक राजीव शर्मा, उपनिदेशक कृषि विभाग अतुल डोगरा, एपीएमसी सचिव रविंद्र ठाकुर सहित अन्य अधिकारी व गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।
-0-

Get real time updates directly on you device, subscribe now.