ऊना में लोकमित्र केन्द्रों पर किसानों हेतु पंजीकरण प्रक्रिया के लिए 30 रुपये शुल्क निर्धारित

पंजीकरण के लिए 20 रुपये जबकि टोकन के लिए देने होंगे 10 रुपये

ऊना, 13 अक्तूबर – किसानों की सुविधा के लिए इस बार एफसीआई के माध्यम से धान की फसल की खरीद की जा रही है जिसके लिए किसानों को सबसे पहले वेब पाॅर्टल पर पंजीकरण करना अनिवार्य है। इस बारे जानकारी देते हुए उपायुक्त, ऊना राघव शर्मा ने बताया कि किसान वेब पाॅर्टल पर पंजीकरण करवाकर टोकन प्राप्त करने के उपरांत ही अपनी धान की फसल बेच पाएंगे। उन्होंने बताया कि धान की बिक्री के लिए टकारला खरीद केन्द्र के साथ-साथ अब टाहलीवाल खरीद केन्द्र के लिए भी सरकार द्वारा स्वीकृति प्रदान की गई है। उन्होंने बताया कि किसानों को ी http://hpappp.nic.in वेबसाइट पर पंजीकरण करके टोकन प्राप्त करना होगा और आबंटित किए गए दिन और स्लाॅट के हिसाब से ही धान बेचने के लिए मंडी जाना होगा। उन्होंने कहा कि ऐसे कृषक जो अपने स्तर पर स्वयं पंजीकरण नहीं कर सकते हैं, वे पंजीकरण की प्रक्रिया पूर्ण करने की लिए किसान नजदीकी लोकमित्र केन्द्रों की सेवाएं ले सकते हैं। डीसी ने बताया कि किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा लोकमित्र केन्द्रों के लिए पंजीकरण से संबंधित सेवाओं के लिए हेतु शुल्क की दरें निर्धारित कर दी हैं। उन्होंने बताया कि पंजीकरण से जुड़ी प्रक्रिया पूर्ण करने के लिए किसानों को 30 रुपये की शुल्क अदा करनी होगी। उन्होंने बताया कि वेब पाॅर्टल पर पंजीकरण करने और रसीद का पिं्रट आउट प्रदान करने के लिए 20 रुपये जबकि टोकन जनरेट करके उसका प्रिंट आउट प्रदान करने के लिए 10 रुपये की शुल्क निर्धारित की गई है। उन्होंने जिला में संचालित किए जा रहे लोकमित्र केन्द्रों के संचालकों का आहवान किया है कि इस कार्य के लिए सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क ही वसूली जाए अन्यथा उल्लंघन होने की स्थिति में नियमानुसार कार्यवाही अमल में लाई जा सकती है। -0-

Get real time updates directly on you device, subscribe now.