परवाणू में आयोजित जनमंच में 69 शिकायतें तथा 79 मांगे प्रस्तुत

समस्याओं का त्वरित समाधान ही जनमंच का मूल उद्देश्य-डाॅ. सैजल

 सोलन। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुष मंत्री डाॅ. राजीव सैजल ने कहा लोकतान्त्रिक व्यवस्था का मुख्य उद्देश्य सरकार की योजनाओं व कार्यक्रमों के माध्यम से आमजन की सेवा करना है तथा आमजन की सेवा के लिए सभी विभागीय अधिकारियों को सरकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए त्वरित प्रयास करने चाहिए। डाॅ. सैजल आज सोलन जिला के कसौली विधानसभा क्षेत्र के परवाणू में आयोजित जनमंच की अध्यक्षता कर रहे थे।

आज का जनमंच प्रदेश का 24वां, सोलन जिला का 21वां तथा कसौली विधानसभा क्षेत्र का चैथा जनमंच था।

डाॅ. सैजल ने अधिकारियों का आह्वान किया कि जनता की समस्याओं को समझकर इनका त्वरित निपटारा सुनिश्चित बनाएं ताकि लोगों को उनके घरद्वार समीप ही न्याय मिल सके। उन्होंने कहा कि जनमंच का यही उद्देश्य है कि लोगों को उनकी समस्याओं का त्वरित समाधान प्राप्त हो तथा उनके समय व धन की बचत हो। उन्होंने जनमंच में उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वयं दौरा कर आम लोगों की समस्याओं को जाने तथा सवंदेनाशीलता के साथ उन समस्याआंे का त्वरित हल निकालें।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि जनमंच का उद्देश्य आमजन के घरद्वार के समीप पहुंचकर उनकी बात सुनकर समस्याओं का निराकरण करना है। प्रदेश सरकार इस उद्देश्य में सफल भी रही है।

उन्होंने कहा कि कसौली विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत विकास कार्य प्रगति पर है। उन्होंने कहा कि कसौली विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों में धन की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी।

डाॅ. सैजल ने कहा कि हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना पूरे देश में एक आदर्श योजना के रूप में सराही गई है। उन्होंने कहा कि यह योजना वर्तमान प्रदेश सरकार की हर वर्ग को लाभान्वित करने के संकल्प का जीवन्त उदाहरण है। उन्होंने कहा कि इस योजना के माध्यम से जहां प्रदेश की गृहिणियों को सुरक्षित सुविधा प्राप्त हुई वहीं प्रदेश के पर्यावरण पर भी इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ा है।

आज आयोजित जनमंच के लिए 69 शिकायतें प्राप्त हुईं। इनमें से 54 का निपटारा सुनिश्चित बनाया गया। जमनंच मंे 79 मांगे प्राप्त हुई जिनमें से 13 का निपटारा कर किया गया। शेष शिकायतों तथा मांगों को अग्रिम कार्यवाही के लिए उचित स्तर पर प्रेषित किया गया।

जनमंच में 04 हिमाचली प्रमाण, 04 चरित्र प्रामण पत्र, 03 आय प्रमाण पत्र बनाए गए। 03 व्यक्तियों को परिवार रजिस्टर की नकल उपलब्ध करवाई गई। 05 अन्य प्रमाण पत्र जारी किए गए। 76 लोगों का आधार के लिए नामांकन किया गया। 03 इन्तकाल किए गए। वाहन लाईसेंस के 11 मामलों में कागज़ी कार्यवाही पूरी की गई।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा आयोजित निःशुल्क जांच शिविर में 215 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। 28 व्यक्तियों के नेत्र जांचे गए। 45 व्यक्तियों की दन्त चिकित्सा की गई। 07 व्यक्तियों को दिव्यांगता प्रमाण पत्र जारी करने के लिए आवश्यक कार्यवाही की गई। 12 दिव्यांगता प्रमाण पत्रों का पंजीकरण किया गया। जनमंच में कोविड-19 परीक्षण एवं बचाव टीकाकरण भी किया गया गया। 43 व्यक्तियों को कोविड-19 से बचाव के लिए टीकाकरण किया गया। आयुष विभाग द्वारा आयोजित निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर में 275 लोगों का स्वास्थ्य जांचा गया। जनमंच मंे आयोजित रक्तदान शिविर में 11 यूनिट रक्त एकत्र किया गया।

पशुपालन विभाग द्वारा आयोजित निःशुल्क जांच शिविर में दूध के 38 नमूने एकत्र किए गए। जनमंच में भारतीय संचार निगम लिमिटिड द्वासरा 110 सिम कार्ड वितरित किए गए। 20 ई-श्रम कार्ड भी बनाए गए।

आज के जनमंच में 2000 से अधिक व्यक्ति उपस्थित रहे।

सभी मांगे आॅनलाइन पोर्टल पर अपलोड कर दी गई है तथा सम्बन्धित विभागों को आवश्यक कार्यवाही के लिए शीघ्र प्रेषित की जाएंगी।

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डाॅ. डेजी ठाकुर, जिला परिषद सोलन के अध्यक्ष रमेश ठाकुर, एपीएमसी सोलन के अध्यक्ष संजीव कश्यप, नगर परिषद परवाणू की अध्यक्ष निशा शर्मा, भाजपा तथा भाजयुमो के अन्य पदाधिकारी, पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधि, उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी, पुलिस अधीक्षक सोलन वीरेंद्र शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सोलन अशोक वर्मा, आदेशक गृह रक्षा डाॅ. शिव कुमार शर्मा, उपमण्डलाधिकारी कसौली डाॅ. संजीव धीमान, उपमण्डलाधिकारी सोलन अजय यादव सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे। .0.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.