सरकार को जनता के और समीप लाने तथा प्रदेश के नागरिकों की समस्याओं का त्वरित समाधान जनमंच का उद्देश्य

बिलासपुर 21 नवम्बर – जनमंच के माध्यम से लोगों को अपनी बात सरकार व प्रशासन के समक्ष रखने का सुनहरा अवसर है। यह जानकारी आज झण्डूता विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत कोसरियां में 24वें जनमंच की अध्यक्षता करते हुए खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने दी।
उन्होंने कहा कि जनमंच मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का महत्वपूर्ण व महत्वकांक्षी कार्यक्रम है जिसमें लोगों में उत्साह के साथ भारी लोकप्रियता बढ़ी है। सरकार को जनता के और समीप लाने तथा प्रदेश के नागरिकों की समस्याओं का त्वरित समाधान करने के उद्देश्य से जनमंच कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। प्रदेश के लोगों की समस्याओं को सुलझाने के लिए शुरू किया गया जनमंच बेहद सफल साबित हो रहा है।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण एहतियातन जनमंच स्थगित रखे गए थे। परंतु जैसे ही हालात सामान्य हुए लोगों की सुविधा के लिए जनमंच कार्यक्रम कोरोना के दिशा निर्देशों की अनुपालना करते हुए पुनः शुरू किए जा रहे है।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में 90 प्रतिशत लोगों को दूसरी कोविड रोधी वैक्सिन लगाई जा चुकी है और हिमाचल में 30 नवम्बर तक कोविड वैक्सिनेशन का शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर लिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि जनमंच कार्यक्रम का सफल व लोकप्रिय होने का एक कारण यह भी है कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए किसी भी पात्र व्यक्ति को अब कार्यालयों के चक्कर लगाने की जरुरत नहीं पड़ती है। उन्हें घर द्वार पर ही यह सुविधा उपलब्ध हो रही है और साथ ही जल जीवन मिशन के तहत नल से साथ शुद्ध जल उपलब्ध करवाए जा रहा है।
उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा हिमाचल वासियों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए महत्वपूर्ण सहारा योजना चलाई गई है। सहारा योजना के अंतर्गत लोगों के स्वास्थ्य में सुधार के साथ वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाती है। योजना के अंतर्गत मरीजों को 3000 रुपये प्रतिमाह सहायता राशि दी जाती है।
आयुष्मान योजना के तहत पात्र परिवारों को प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का निःशुल्क इलाज की सुविधा प्राप्त है। उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत योजना से वंचित सभी परिवारों को प्रदेश सरकार द्वारा हिमकेयर योजना में निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि हिम केयर योजना के तहत प्रदेश सरकार द्वारा 180 करोड़ रुपये खर्च किए गए है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना के तहत युवाओं को स्टार्ट-अप आरम्भ करने के लिए प्रेरित किया गया है। इसके अंतर्गत 112 करोड़ रुपये का उपदान युवाओं को दिया गया है।
इस मौके पर उन्होंने कहा कि एचपी शिवा परियोजना के तहत बागवानों को सोलर फैसिंग और टपक सिंचाई तथा निःशुल्क पौधे उपलब्ध करवाए जा रहे है ताकि उनकी आर्थिकी में सुधार हो सके।
इससे पूर्व उन्होंने ‘एक बूटा बेटी के नाम’ योजना के अंतर्गत आंबला का पौधा रोपित किया। विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए प्रदशर्नियों का अवलोकन किया। बेटी अनमोल योजना के तहत 5 लाभार्थियों को एफडी वितरित की गई और 5 दिव्यांगजनों को दिव्यांग प्रमाण पत्र देकर प्रोत्साहित किया गया।
उन्होंने बताया कि जनमंच में 114 आवेदन प्राप्त हुए जिसमें से 65  पहले प्राप्त हो चुके थे और 49 शिकायतें आज प्राप्त हुई। जिनमें से 60 शिकायतों का मौके पर ही निपटारा कर दिया गया तथा शेष शिकायतों को सम्बन्धित विभागों को कार्यवाही हेतु भेज दिया गया है। जनमंच में राजस्व और पंचायती राज विभाग से सम्बन्धित 70 प्रमाण पत्र बनाए गए। आयुष विभाग द्वारा 214 लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई तथा 75 लोगों के खून की जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा 144 लोगों की स्वास्थ्य की जांच की गई तथा 25 लोगों की खून की जांच की गई। 30 लोगों की आंखों की जांच तथा 9 लोगों को कोविड की दूसरी डोज लगाई गई।
उन्होंने बताया कि राजस्व विभाग से सम्बन्धित 45 इंतकाल और 16 बसीयत बनाई गई।  

इस अवसर पर झण्डूता विधानसभा क्षेत्र के विधायक जे.आर. कटवाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि 60 करोड़ रुपये की लागत से कुटवागड़ पेयजल योजना का कार्य प्रगति पर है जिसे अगले वर्ष तक पूर्ण कर लिया जाएगा। इसके अतिरिक्त 240 करोड़ की लागत से सड़कों और सिंचाई एवं पेयजल योजना पर खर्च किया जा रहा है।
जनमंच में अतिरिक्त उपायुक्त तोरुल रवीश ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए कहा कि इस जनमंच में विधानसभा क्षेत्र झण्डूता के दुर्गम क्षेत्र कोटधार क्षेत्र की सात पंचायतों बड़गांव गलू, कोसरियां, नघियार, घराण, सनीहरा, कुलज्यार, भड़ोली कलां को सम्मिलित किया गया है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन का पूरा प्रयास रहेगा कि जनमंच के माध्यम से जनता की अधिक से अधिक समस्याओं का तत्परता से समाधान किया जाए। इसके अतिरिक्त कुछ समस्याएं जिनके समाधान में समय लग सकता है उन्हें समयवद्ध करके उनका निदान करने का हर सम्भव प्रयास किया जाएगा।
जनमंच कार्यक्रम में लगभग 1500 लोगों ने भाग लिया।
इस अवसर पर जिला परिषद अध्यक्षा मुस्कान, प्रदेश कार्यकारणी सदस्य राकेश गौतम, पुलिस अधीक्षक एस.आर. राणा, सहायक आयुक्त सिद्धार्थ आचार्य, एसडीएम झण्डूता नरेश वर्मा सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष और अधिकारी एवं कर्मचारी तथा गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।
.0.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.