जनमंच से आम लोगों को मिल रही है बहुत बड़ी राहत: सुरेश भारद्वाज

शहरी विकास मंत्री ने बड़सर विस क्षेत्र के गांव झिरालड़ी में सुनीं जनसमस्याएं

हमीरपुर 21 नवंबर। आम लोगों की समस्याओं का समाधान उनके घरद्वार पर ही करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ किए गए जनमंच कार्यक्रम की 24वीं कड़ी में रविवार को बड़सर विधानसभा क्षेत्र की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला झिरालड़ी में जनमंच का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने की। कार्यक्रम के दौरान क्षेत्र की 5 ग्राम पंचायतों करेर, मोरसू सुल्तानी, पटेरा, लोहडर, पाहलू और नगर पंचायत भोटा के निवासियों के कुल 135 आवेदनों पर सुनवाई की गई। इनमें से 57 आवेदन जनसमस्याओं और 78 मांगों से संबंधित रहे। प्री-जनमंचों के दौरान 27 जनसमस्याएं और 42 मांगें प्राप्त हुई थीं। जबकि, क्षेत्रवासियों की ओर से मौके पर ही रखी गईं 30 जनसमस्याओं तथा 36 मांगों पर भी सुनवाई की गई। इनमें से अधिकांश मामलों का मौके पर ही समाधान कर दिया गया। शहरी विकास मंत्री ने अधिकारियों को शेष समस्याओं का भी निर्धारित समय अवधि के भीतर निवारण करने के निर्देश दिए।
इस अवसर पर सुरेश भारद्वाज ने कहा कि जनमंच कार्यक्रम प्रदेश सरकार का बहुत ही महत्वपूर्ण एवं फ्लेगशिप प्रोग्राम है। इसमें अधिकांश जनसमस्याओं का समाधान मौके पर ही कर दिया जाता है। उन्होंने कहा कि आम लोग कई बार सरकारी दफ्तरों और बड़े अधिकारियों के पास जाने से हिचकिचाते हैं। इन लोगों की छोटी-छोटी समस्याओं का समाधान उनके घरद्वार पर ही करने के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जनमंच कार्यक्रम आरंभ किया है। इस कार्यक्रम के तहत प्राप्त अधिकांश जनसमस्याओं का निवारण प्री-जनमंचों में ही कर दिया जाता है। इससे आम लोगों को बहुत बड़ी राहत मिलती है। उन्होंने कहा कि जनमंचों में लोगों की ओर से प्राप्त मांगों को भी प्रदेश सरकार को प्रेषित किया जाता है और उन पर गंभीरता से विचार किया जाता है, ताकि इनके लिए बजट का प्रावधान करके लोगों को सुविधाएं प्रदान की जा सकें। सुरेश भारद्वाज ने कहा कि जनमंच के अलावा 1100 नंबर पर उपलब्ध मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन के माध्यम से भी जनसमस्याओं का त्वरित समाधान किया जा रहा है।
कार्यक्रम के दौरान जनसमस्याओं की सुनवाई करते हुए शहरी विकास मंत्री ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनसे संबंधित विकास कार्यों में अनावश्यक विलंब नहीं होना चाहिए। अगर विकास कार्यों में कहीं पर कोई विवाद हो तो वे स्थानीय निकायों के पदाधिकारियों तथा क्षेत्रवासियांे के साथ सलाह-मशविरा करके इन कार्यों में आ रही अड़चनों को दूर करवाएं।
इससे पहले शहरी विकास मंत्री ने एक बूटा बेटी का नाम योजना के तहत झिरालड़ी स्कूल परिसर में ही पौधारोपण किया तथा विभिन्न विभागों के प्रदर्शनी स्टाॅलों का अवलोकन किया।
इस अवसर पर उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने शहरी विकास मंत्री को आश्वस्त किया कि जनमंच के दौरान मौके पर ही प्राप्त जनशिकायतों को भी संबंधित विभागों के माध्यम से प्राथमिकता के आधार पर निपटाया जाएगा।
कार्यक्रम के दौरान जिला भाजपा अध्यक्ष बलदेव शर्मा, हिमाचल प्रदेश भवन एवं सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष राकेश शर्मा बबली, कांगड़ा सहकारी कृषि एवं भूमि विकास बैंक के अध्यक्ष कमलनयन शर्मा, जिला परिषद उपाध्यक्ष नरेश कुमार, एसपी डाॅ. आकृति शर्मा, एडीएम जितेंद्र सांजटा, एसडीएम शशि पाल शर्मा, अन्य अधिकारी, स्थानीय निकायों के पदाधिकारी और अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।
——-
16 महिलाओं को गैस कनेक्शन और 31 को दी सिलाई मशीनें
जनमंच के दौरान शहरी विकास मंत्री ने हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के तहत 16 महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन प्रदान किए। उन्हांेने उद्योग विभाग के माध्यम से प्रशिक्षित 31 महिलाओं को सिलाई मशीन एवं टूल किट वितरित किए। बेटी है अनमोल योजना के तहत 3 कन्याओं को 12-12 हजार रुपये की एफडी के दस्तावेज और शगुन योजना की 7 लाभार्थियों को 31-31 हजार रुपये के चेक प्रदान किए गए। एक बूटा बेटी के नाम योजना के तहत 4 कन्याओं को पौधे और अन्य उपहार वितरित किए गए।
——
310 लोगों की स्वास्थ्य जांच और 20 को लगाई कोरोना रोधी वैक्सीन
जनमंच के दौरान स्वास्थ्य और आयुर्वेद विभाग द्वारा लगाए गए मेडिकल जांच शिविर में कुल 310 लोगों की जांच की गई। इनमें से स्वास्थ्य विभाग के डाॅक्टरों ने 157 और आयुर्वेद विभाग के चिकित्सकों ने 153 लोगों का चैकअप किया। स्वास्थ्य विभाग ने 55 लोगों के लैब टैस्ट भी किए तथा 2 लोगों को मेडिकल सर्टिफिकेट जारी किए। इनके अलावा 20 लोगों को कोरोना रोधी वैक्सीन लगाई गई।
-0-

Get real time updates directly on you device, subscribe now.