पहली दिसंबर से बंद हो जाएंगे शिकारी माता मंदिर के कपाट

मंडी, 29 नवंबर।  सर्दियों के मौसम में होने वाली बर्फबारी के मद्देनजर मंडी जिले के थुनाग क्षेत्र में स्थित प्रसिद्ध शिकारी माता मंदिर के कपाट पहली दिसंबर से बंद कर दिए जाएंगे। एसडीएम थुनाग पारस अग्रवाल ने बताया कि कड़ाके की ठंड व बर्फबारी की संभावना के चलते प्रशासन ने शिकारी माता मंदिर के कपाट 1 दिसंबर 2021 से 31 मार्च 2022 तक बंद करने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि इस अवधि में आम नागरिकों के शिकारी माता मंदिर में प्रवेश के साथ-साथ यहां पर्यटकों तथा ट्रैकर्ज के आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। शिकारी माता मंदिर के कपाट आम नागरिकों व श्रद्धालुओं-पर्यटकों के दर्शन के लिए 1 अप्रैल, 2022 से विधिवत रूप से खोले जाएंगे।

उन्होंने अपील करते हुए कहा कि सर्दियों के मौसम में शिकारी माता मंदिर क्षेत्र में 8 से 10 फीट तक बर्फ गिरती है। वहीं कड़ाके की ठंड व भारी हिमपात से जंजैहली-माता शिकारी मंदिर सड़क भी जाम रहती है। लिहाजा इन दिनों में जोखिम न लें और शिकारी माता मंदिर की ओर जाने का प्रयास न करें।
एसडीएम ने कहा कि यदि कोई भी पर्यटक व ट्रैकर अथवा स्थानीय निवासी षिकारी माता मंदिर की ओर जाने का प्रयास करता है तथा उक्त आदेश की अवहेलना करता है तो उसके विरूद्ध कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी । किसी भी आपात कालीन स्थिति में पुलिस थाना जंजैहली के दूरभाष नम्बर 01907-256740 तथा उप-मंडलाधिकारी (नागरिक) कार्यालय थुनाग के दूरभाष नवम्बर 01907-257666 पर सम्पर्क करें।
..000..

Get real time updates directly on you device, subscribe now.