मुख्यमन्त्री स्वावलम्बन योजना में 38 नई परियोजनाओं को मंजूरी  

मंडी, 7 दिसम्बर । मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत मंडी जिला में 38 नई परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है। योजना के तहत परियोजनाओं के अनुमोदन के लिए उपायुक्त अरिंदम चौधरी की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित जिला स्तरीय समिति की बैठक में इन परियोजनाओं को हरी झंडी दी गई ।
बैठक के उपरांत उपायुक्त अरिंदम चौधरी ने बताया कि नव अनुमोदित 38 परियोजनाओं की कुल लागत 9.69 करोड़ रुपये है। इन पर 2.52 करोड़ रुपये अनुदान राशि प्रस्तावित है। जिन परियोजनाओं को अनुमोदन प्रदान किया गया उनमें मुख्यतः पेट्रोल पंप, बेकरी, डेन्टल क्लीनिक, मिनरल वाटर, एडवर्टाइजमेंट यूनिट, छोटे मालवाहक वाहन, दुकान और स्टील फेब्रिकेशन शामिल है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना प्रदेश सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है जिसके लिए जिला मण्डी को वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 10.50 करोड़ की अनुदान राशि प्रदान की गई है।
इस योजना के अन्तर्गत  हिमाचली युवक व युवती जिनकी उम्र 18-45 वर्ष है, जिसमें महिलाओं को 5 वर्ष की विशेष छूट दी गई है। वह एक करोड़ रुपए तक की कुल परियोजना लागत वाली  इकाइयों में प्लांट व मशीनरी के उपकरण पर 60 लाख तक के निवेश पर महिला उद्यमियों के लिए 30 प्रतिशत तथा अन्य युवा उद्यमियों के लिए 25 प्रतिशत अनुदान प्रदान किया जाता है। विधवा महिलाओं के लिए जिनकी आयु 50 वर्ष से कम हो अनुदान राशि 35 प्रतिशत का प्रावधान है। इसके अलावा 5 प्रतिशत की दर से 3 वर्षों तक  मुवलिग 60 लाख रुपये के ऋण पर ब्याज अनुदान भी उपरोक्त योजना में दिया जाएगा ।
उन्होंने बताया कि 10 नवम्बर, 2021 को नई नोटिफिकेशन के द्वारा 18 नई क्रियाओं को इस योजना में शामिल किया गया है जिनमें उन्नत डेयरी विकास प्रोजेक्ट, साइलेज युनिट,फार्म स्टे/ फार्म टूरिज्म, पेट्रोल पंप, एम्बुलेंस, ईवी चार्जिंग स्टेशन, टीशु कल्चर लेबोरेटरी तथा सिल्क प्रोसेसिंग यूनिट इत्यादि शामिल किए है। जिससे यह योजना कुल  103 सेवा इकाईयों तथा सभी उत्पादन इकाइयों के ऊपर लागू है। इस नोटिफिकेशन के तहत महिलाओं को 5 वर्ष की विशेष छूट दी गई है जिससे महिलाओं की आयु सीमा 18 से 50 वर्ष हो गई हैं
बैठक में जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक ओपी जरयाल सहित समिति के अन्य सदस्य मौजूद रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.