प्रधानमंत्री ने मंडयाली धाम के स्वाद की भूरी-भूरी प्रशंसा

 

सोलन। हिमाचल वासियों से संवाद कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंडयाली धाम का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री कहा कि वे कहा कि वह मंडियाली धाम को बहुत मिस कर रहे हैं। मंडी जिला के थुनाग के दयाल सिंह, कुल्लू के मलाणा की निरमा देवी व लाहुल स्पीति के नवांग उपासक से टीकाकरण की सफलता को लेकर संवाद करते हुए कहा कि जिस जोश व जज्बे से उन्होंने टीकाकरण की पहली खुराक के लिए लगाया है उसे आगे भी जारी रखें। उन्होंने कहा कि मंडी में बहुत आना जाना रहता था। मंडयाली धाम उन्हें बहुत पसंद है। उन्होंने सराज क्षेत्र के थुनाग के दयाल सिंह से पूछा टीकाकरण में ग्रामीण क्षेत्रों में किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा सभी सराजी टीकाकरण के क्षेत्र में अच्छा कार्य कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा सराज क्षेत्र को जयराम ठाकुर प्रदेश को नेतृत्व दे रहे हैं।
कुल्लू के मलाणा में टीकाकरण को लेकर किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा। मोदी ने इसको लेकर निरमा देवी से जानकारी प्राप्त की। निरमा ने बताया टीकाकरण के लिए पहले जमदग्नि ऋषि की आज्ञा लेनी पड़ती है। छह घंटे पैदल चलकर रोपवे से वैक्सीन मलाणा गांव पहुंचाई गई।
प्रधानमंत्री ने लाहौल-स्पीति के नवांग उपासक से पूछा अटल टनल रोहतांग शुरू होने के बाद यहां लोगों के जीवन में क्या बदलाव आया है। नवांग उपासक ने बताया टनल शुरू होने के बाद यहां के लोगों की जिंदगी पूरी तरह से बदल गई है। पहले कुल्लू जाने के लिए दो दिन पहले से सोचना शुरू कर देते थे। रोहतांग दर्रे में फंसने का डर रहता था। अब दो घंटे में कुल्लू पहुंच रहे हैं। किसान व बागवानों के उत्पाद आसानी से बाजारों तक पहुंच रहे हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.